अयोध्या में कटियार: मंदिर आंदोलन का लेख लिखकर कारसेवकों पर गोली चली, फिर भाग गए

राम मंदिर आंदोलन में शामिल होने से पहले विनय कटियार हिंदू जागरण मंच के तहत भारत में मंदिरों और मठों से अतिक्रमण हटाने का अभियान चलाते थे।

राम आने की आशा में अयोध्या नाच रही है। यूपी का यह शहर देश-दुनिया में चर्चा का विषय बना हुआ है। 1990 के दशक में अयोध्या भी चर्चा में था। तब और आज के विषय में बहुत बदलाव आया है, लेकिन एक बात अभी भी यथावत है। अयोध्या का इतिहास है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

कई तथ्यों के साथ अयोध्या का इतिहास बदलने की कोशिश की जा रही है। इसके केंद्र में अयोध्या का आंदोलन और मंदिर निर्माण है।

अब अयोध्या में राम मंदिर बन चुका है, लेकिन अतीत में कई कहानियों, किस्सों, बयानों और दंगों से भर गया है।

इस मंदिर आंदोलन के महान नेता आज हाशिए पर हैं। इसलिए, इस आंदोलन का अपमान करने वाले कभी-कभी नेपथ्य में जा रहे हैं। ऐसी ही एक श्रृंखला एबीपी न्यूज़ पर हाजिर है, जिसमें तथ्यों, कहानियों और किस्सों की जानकारी दी जाती है जो आज की व्यस्तता में छिपे हुए हैं।

अयोध्या कांड नामक सीरीज का नाम है। विनय कटियार के बारे में आज दूसरी कड़ी में पूरी जानकारी दी गई है।

1984 में विनय कटियार ने अयोध्या कांड में एंट्री की। जब वे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ में पूर्णकालिक सदस्य थे, तो संघ ने उन्हें बजरंग दल की कमान दी। कटियार बजरंग दल के पहले अध्यक्ष भी थे, जो 1984 में स्थापित हुआ था।

बजरंग दल को संघ और विश्व हिंदू परिषद ने बनाया था। संगठन को स्थापित करने के दो प्रमुख लक्ष्य थे:

  • 1984 में, कांग्रेस बहुत मजबूत हो गई थी और उस वक्त तक IRS को दो बार बैन लगाया गया था। संघ ने हिंदुत्व के मुद्दे को भी आगे बढ़ाना था, लेकिन बैन का खतरा भी बढ़ाने से बच रहा था।
  • इंटरव्यू में, बजरंग दल के संस्थापक अध्यक्ष विनय कटियार ने कहा कि संगठन का उद्देश्य मठ-मंदिरों पर से कब्जा हटाना था। Katiyar कहते हैं कि बजरंग दल ने पहले बाबरी मस्जिद और राम मंदिर के मुद्दों पर ध्यान दिया था।

बजरंग दल की स्थापना के कुछ ही महीने बाद विनय कटियार ने राम मंदिर आंदोलन को गति देना शुरू किया। 1986 के आसपास, बजरंग दल अयोध्या के आसपास लोकप्रिय होने लगा।

विनय कटियार के बारे में अखबारों में लगातार खबरें छपने लगीं, और धीरे-धीरे कटियार ने अयोध्या कांड का फायरब्रांड नेता बनकर उभरा।

इसे भी पढ़ें

वेलकम के अभिनेता ने बताया कि फिल्म के लिए अक्षय कुमार के स्टाफ से भी कम पैसे मिले

Leave a Comment

कोंसी टीम पाहुची आईपीएल 2024 फाइनल में जाने धोनी ने इंतजार किया लेकिन कोहली की टीम नहीं आई, तो थाला ने ये निर्णय लिया Railway Painter Vacancy: रेलवे में 8वीं पास पेंटर के पदों पर भर्ती का नोटिफिकेशन जारी क्या भारत में बंद होगा WhatsApp? दिल्ली हाईकोर्ट में कंपनी ने दी चेतावनी औजार पर नारियल तेल लगाने के फायदे