हल्द्वानी  हिंसा पर प्रत्यक्ष अपडेट: हल्द्वानी में हिंसा में अभी तक चार की मौत, दुकानें-स्कूल बंद

हल्द्वानी  हिंसा की ताजा खबरें:

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

गुरुवार देर शाम उत्तराखंड के हल्द्वानी में भड़की हिंसा में अभी तक चार लोगों की मौत हो गई है और 100 से अधिक लोग घायल हो गए हैं। फिलहाल, हल्द्वानी में भारी पुलिस बल है। दंगा देखते ही गोली मार दी जाती है। शहर में लॉकडाउन लागू है। हिंसा के बाद बाजार और स्कूलों को बंद कर दिया गया है। ऐसे में परिस्थिति बहुत खराब है।

DM वंदना सिंह ने कहा कि थाने पर पेट्रोल बम फेंके गए, वाहनों को जलाया गया और पुलिस अधिकारियों पर अटैक

हल्द्वानी डिप्टी मेयर वंदना सिंह ने हिंसा का बड़ा आरोप लगाया है। उनके पास कई सीसीटीवी हैं। उनका कहना था कि पुलिस ने किसी को भड़काया, मारा या चोट पहुंचाया नहीं। पहली बार भीड़ एक गली में इकट्ठी हुई थी। यहां पहली बार वाहनों में आग लगाने की घटना हुई थी। हिंसा 45 मिनट बाद हटाई गई। पुलिस अधिकारियों पर अटैक हुआ और थाने पर पेट्रोल बम फेंके गए। DM वंदना सिंह ने कहा कि थाने के बाहर खड़े वाहनों को पेट्रोल बम फेंके गए जलाया जाता है। पुलिस अधिकारियों को थाने में कैद कर दिया गया। पुलिस ने किसी को परेशान नहीं किया और न ही किसी को चोट लगने की कोशिश की। उस पर भी हमला हुआ।

प्रशासन ने बताया कि हलद्वानी में हिंसा की शुरुआत कैसे हुई

हल्द्वानी  अपडेट: हल्द्वानी पुलिस ने मीडिया को विस्तार से बताया कि हिंसा कैसे भड़की और सरकार ने उसे नियंत्रित करने की योजना बनाई।

हलद्वानी हिंसा में अभी तक चार लोग मारे गए

बनभूलपुरा में हिंसा के कारण चार लोग मर गए हैं और सौ से अधिक पुलिसकर्मी घायल हो गए हैं। इसकी पुष्टि उत्तराखंड के एडीजी कानून एवं व्यवस्था एपी अंशुमान ने की है।

हल्द्वानी में हिंसा के बाद स्कूल और दुकानें बंद

हल्द्वानी में हिंसा बढ़ने पर सभी दुकानें बंद कर दी गई हैं। लॉकडाउन शुरू होने के बाद शहर और आसपास के सभी स्कूलों (कक्षा 1 से 12) को भी बंद कर दिया गया है।

 

जिलाधिकारी ने शहर में कर्फ्यू लगाया

अतिक्रमण हटाओ अभियान के बाद हल्द्वानी के बनभूलपुरा में संघर्ष हुआ। हिंसा प्रभावित हल्द्वानी क्षेत्र में भीड़ ने गाड़ियों को नुकसान पहुंचाया। जिलाधिकारी ने बनभूलपुरा में कर्फ्यू लगाया।

अवैध अतिक्रमण हटाने जा रही टीम पर हमला हुआ

उत्तराखंड के हल्द्वानी जिले के बनभूलपुरा क्षेत्र में एक प्रशासनिक टीम ने अवैध अतिक्रमण को हटाने का प्रयास किया था। बताया जाता है कि वहां एक अवैध मदरसा और मस्जिद भी थी, जिसे प्रशासन ने हटाना चाहा था। उस समय एक विशेष वर्ग के लोगों ने पुलिस टीम पर हमला कर दिया। पुलिस वाहनों को जला दिया गया। फूट गया। यहीं से हिंसा की आग फैल गई।

Leave a Comment

कोंसी टीम पाहुची आईपीएल 2024 फाइनल में जाने धोनी ने इंतजार किया लेकिन कोहली की टीम नहीं आई, तो थाला ने ये निर्णय लिया Railway Painter Vacancy: रेलवे में 8वीं पास पेंटर के पदों पर भर्ती का नोटिफिकेशन जारी क्या भारत में बंद होगा WhatsApp? दिल्ली हाईकोर्ट में कंपनी ने दी चेतावनी औजार पर नारियल तेल लगाने के फायदे