युद्ध में अमेरिका के बाद अब रूस की एंट्री, हमास से बंधकों को छुड़ाने की बातचीत

युद्ध में अमेरिका के बाद अब रूस की एंट्री, हमास से बंधकों को छुड़ाने की बातचीत

7 अक्टूबर से हमास और इजरायल के बीच जंग जारी है। दोनों ओर हजारों लोग मारे गए हैं। दो धड़ों के बीच चल रहे ये संघर्ष अब बढ़ गया है। जबकि अमेरिका ने इजरायल का खुलकर समर्थन किया है, हमास ने रूस से संपर्क किया है।

7 अक्टूबर से हमास और इजरायल के बीच जंग जारी है। दोनों ओर हजारों लोग मारे गए हैं। दो धड़ों के बीच चल रहे ये संघर्ष अब बढ़ गया है। जबकि अमेरिका ने इजरायल का खुलकर समर्थन किया है, हमास ने रूस से संपर्क किया है। इस दौरान, दो सौ से अधिक इजरायली बंधकों को छुड़ाने की बातचीत हुई है। वहीं, गाजा और इजरायल युद्ध में दुनिया की दो सबसे बड़ी शक्तियां सीधे एक दूसरे से टकरा सकती हैं। ये दो देश हैं: अमेरिका और रूस। इन दोनों देशों के नेताओं के बयान और कार्रवाई ने शीतयुद्ध के समय की यादें फिर से जीवंत कर दी हैं।

यूक्रेन युद्ध में रूस बहुत आक्रामक था, लेकिन गाजा युद्ध में बाइडेन बहुत कठोर था। जब अमेरिका ने भूमध्यसागर में इजरायल की मदद के लिए दो युद्धपोत तैनात किए, तो रूस ने ब्लैक सी में विध्वंसक मिसाइल से लैस लड़ाकू विमानों को तैनात किया। अब दुनिया महायुद्ध की ओर बढ़ रही है।

57 मुस्लिम देशों ने इजरायल के खिलाफ विद्रोह किया

यही नहीं, इज़रायल के खिलाफ फिलिस्तीन से लेकर मध्य ईस्ट के सत्तर सात मुस्लिम देशों में गुस्सा फैल गया है। जमकर आंदोलन हो रहे हैं। ऐसा लगता है कि मध्य ईस्ट लड़ता रहेगा और युद्ध जारी रखेगा। इतना ही नहीं, गाजा से अलग होने के बाद अब युद्ध भी बढ़ गया है। डर है कि ये विस्तार विश्वयुद्ध का कारण न बन जाए। इज़रायल ने बीती रात अचानक से हमले बढ़ाए और एक ही रात में 100 बमों से गाजा को निशाना बनाया। जिसमें एक चर्च और एक मस्जिद दोनों ध्वस्त हो गए। इतना ही नहीं, इजरायल अब युद्ध की अपनी अगली योजना भी बता रहा है।

दो महाशक्तियां एक साथ आमने-सामने

युद्ध का खतरा इतना बड़ा है कि रूस ने अपने लड़ाकू विमानों को ब्लैक सी में तैनात करके अमेरिका के युद्धपोत को भूमध्यसागर में रोकने का प्रयास किया है। ये लड़ाकू विमान रूस की सबसे घातक किंझल मिसाइल और एटम बम से लैस हैं। किंझल मिसाइल की दूरी दो हजार किलोमीटर है। रूस के सैन्य बेड़े में किंझल मिसाइल सबसे खतरनाक और घातक है, और इसे ट्रेस करना बहुत मुश्किल है। पुतिन ने गाजा-इजरायल युद्धक्षेत्र पर अमेरिकी दबाव को देखते हुए अपने लड़ाकू विमानों को तैनात किया है। भूमध्यसागर काला सागर से करीब 1700 किलोमीटर दूर है। गाजा और इजरायल के संघर्ष का क्षेत्र दोनों सागर के बीच में आता है।

डिफेंस एक्सपर्ट्स क्या कहते हैं?

रक्षा विश्लेषकों का मानना है कि किसी भी युद्ध, चाहे छोटा हो या बड़ा, अमेरिका अपने दोनों युद्धपोत पर मौजूद लड़ाकू विमानों से किसी भी देश पर विनाशकारी हमला कर सकता है। रूस के राष्ट्रपति पुतिन ने काला सागर में अमेरिकी युद्धपोत की तैनाती के बाद तनाव बढ़ा। गाजा और इजरायल में युद्ध चल रहा है, लेकिन दुनिया की दो सबसे बड़ी सेनाओं ने अपने जंगी बेड़े को एक दूसरे के सामने खड़ा कर दिया है। आने वाले दिनों में विवाद बढ़ सकता है। क्योंकि अमेरिका और रूस यूक्रेन युद्ध में एक दूसरे को पीछे छोड़ रहे हैं। वर्तमान में रूस युद्धक्षेत्र में अमेरिकी युद्धपोत की निगरानी में है और रूस की जद में अमेरिकी युद्धपोत

इजरायल गाजा पर निरंतर बमबारी

आज युद्ध का चौथा दिन है, जिसमें गाज़ा में 4137 लोग मर चुके हैं और 12,500 घायल हैं। साथ ही, इजराइल ने बीती रात गाजा में 100 जगहों पर बम गिराए. इस हमले में हमास के एक नेवी कमांडर की भी मौत हो गई, जो 7 अक्टूबर को इजराइल में नरसंहार का दोषी था। गुरुवार को गाजा में एक अस्पताल पर हुए बड़े हमले के बाद सेंट पोर्फिरियस चर्च पर हमला किया गया। जिसमें आठ लोग मर गए और दर्जनों घायल हो गए। इस हमले की पुष्टि फिलिस्तीन ने की है। HAMAS ने भी इस बारे में एक बयान जारी किया है जिसमें कहा गया है कि इजरायली सैनिकों ने चर्च को निशाना बनाया है। पहले 24 घंटों में इजराइल की बमबारी में करीबी 307 फिलिस्तीनियों की जान गई. UN की रिपोर्ट के मुताबिक गाजा में अब तक 1,524 बच्चे और 1444 महिलाओं की मौत हो चुकी है. इसके अलावा गाजा पट्टी पर करीब 12,845 आवास ऐसे हैं, जो या तो तबाह हो चुके हैं या अब वहां रहना संभव नहीं है

Israel Vs Lebanon के सैन्य बल: सैन्य बल में इजरायल का आधा होने के बावजूद, ये पड़ोसी देश लगातार हमास की मदद करते हैं

Leave a Comment

Railway Painter Vacancy: रेलवे में 8वीं पास पेंटर के पदों पर भर्ती का नोटिफिकेशन जारी क्या भारत में बंद होगा WhatsApp? दिल्ली हाईकोर्ट में कंपनी ने दी चेतावनी औजार पर नारियल तेल लगाने के फायदे ICC T20 वर्ल्ड कप 2024 के लिए भारत की पूरी टीम ये है Google से पैसे कमाने के कई तरीके हैं, जिनमें से कुछ ये हैं