Jio ने लॉन्च किया Jio Glass बड़ी स्क्रीन जानें खास फीचर्स और कीमत

Jio ने लॉन्च किया Jio Glass बड़ी स्क्रीन वाली जानें खास फीचर्स और कीमत

Jio ने लॉन्च किया Jio Glass बड़ी स्क्रीन जानें खास फीचर्स और कीमत

जियो ने एक ग्लास प्रस्तुत किया है जो स्मार्टफोन को 100 इंच की वर्चुअल स्क्रीन में बदल देता है। Tesseract कंपनी के साथ मिलकर जियो ने यह फ्यूचरिस्टक उत्पाद बनाया है। जियोग्लास AR और VR तकनीक का उपयोग करता है। इसमें कैमरा, हेडपोन और अन्य उपकरण भी शामिल हैं। टाइप-सी केबल इसे स्मार्टफोन से कनेक्ट करता है। स्मार्टफोन का भी उपयोग करके इंटरफेस को नेविगेट किया जा सकता है। इसलिए स्मार्ट टीवी की पीढ़ी समाप्त नहीं होगी।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

इंडियन मोबाइल कांग्रेस 2023 में जियो ग्लास, जिसे पहनने पर 100 इंच का स्मार्ट टीवी दिखाई देगा। यह उत्पाद फ्यूचरिस्टक है। यह एक स्मार्ट ग्लास है, जिससे आप अपने स्मार्टफोन को कनेक्ट कर सकते हैं। 100 इंच की वर्चुअल स्क्रीन इसके बाद स्मार्टफोन में बदल जाएगी। Tesseract कंपनी ने जियोग्लास बनाया है।

जियो ग्लास क्या है?

जब हम जियो ग्लास की बात करते हैं, तो यह एक स्मार्ट उपकरण है। इससे यूजर्स ऑगमेंट रियलिटी (AR) और वर्चुअल एक्सपीरियंस (VR) का अनुभव कर सकते हैं। इस ग्लास में गूगल कपंनी का उपयोग किया गया है। ये गूगल का स्मार्ट ग्लास है। Jio Glass में एक कैमरा और स्पीकर हैं। इन ग्लासों में दो माइक्रोफोन भी हैं।

ग्लास में क्या खास होगा?

2019 में जियो ने इस डीपटेक स्टार्टअप को खरीद लिया, जो ऑग्मेंटेड रिएलिटी (AR-based glass) बनाता है। भी वर्चुअल रिएलिटी (VR) पर काम करती है। यह कई उत्पाद बनाती है, जैसे स्मार्ट ग्लास, हेडपोन और कैमरा। जियोग्लास एक लोकप्रिय उत्पाद है। यह उत्पाद भी भारत में बनाया गया है। जियोग्लास देखने में साइंस फिक्सन फिल्म का कोई उत्पाद लगता है। इसे पहनना आसान है क्योंकि इसका वजन लगभग 69 ग्राम है। यह एक नरम मेटॉलिक ग्रे फ्रेम है। इसमें दो लेंस भी हैं।

Jio Glass मिलेंगे ये फायदे

जियोग्लास लेंस के रिमूवल फ्लैप को जोड़कर या अलग करके आर और वीआर मोड को बदल सकते हैं, जो आपकी आंखों को एक सुंदर क्रोम फिनिश के पीछे छिपाता है। जब फ्लैप चालू होता है, चश्मा बाहरी दृश्यों को रोकता है। यही कारण है कि जब फ्लैप बंद होता है, चश्मा आपको अपने आस-पास के वातावरण को देखने की अनुमति देता है। JioGlass 1080p स्क्रीन देता है। जो एक सौ इंच की वर्चुअल स्क्रीन बनाता है। इसके किनारों पर दो वक्ता हैं। टाइप-सी केबल, जो पावर स्रोत भी है, चश्मे को स्मार्टफोन से जोड़ता है। केबल कुछ असुविधाजनक था। इंटरफेस को समझना और सामग्री का चयन करने के लिए स्मार्टफोन का उपयोग वर्चुअल कंट्रोलर के रूप में भी किया जा सकता है।

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग का अनुभव बेहतर होगा

3D अवतार, होलोग्राफिक सामग्री और नॉर्मल वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग का अनुभव इनसे ज्यादा बढ़िया होता है। 3D होलोग्राम और पर्सेनेलाइस्ड ऑडियो भी इसमें हैं। इस डिवाइस को स्मार्टफोन से भी जोड़ा जा सकता है, इससे आप वर्चुअल वर्ल्ड का अनुभव कर सकते हैं।

ये जियो ग्लास कैसे काम करते हैं?

जियो ग्लास अपने सभी कंपोनेंट्स का उपयोग करके आसपास के क्षेत्र में मिक्स रियलिटी बनाता है। इस ग्लास में लगे स्पीकर्स और माइक्रोफोन यूजर को चल रही वर्चुअल कॉल पर बातचीत करने और कनेक्ट करने देते हैं। ग्लास 3D होलोग्राफिक या 2D अवतार प्रदर्शित करता है। ये रियल लाइफ की तरह वर्चुअल दुनिया में होते हैं।

Jio ने दिखाया अपना जलबा! फिर बना देश के नंबर-1 नेटवर्क

Leave a Comment

कोंसी टीम पाहुची आईपीएल 2024 फाइनल में जाने धोनी ने इंतजार किया लेकिन कोहली की टीम नहीं आई, तो थाला ने ये निर्णय लिया Railway Painter Vacancy: रेलवे में 8वीं पास पेंटर के पदों पर भर्ती का नोटिफिकेशन जारी क्या भारत में बंद होगा WhatsApp? दिल्ली हाईकोर्ट में कंपनी ने दी चेतावनी औजार पर नारियल तेल लगाने के फायदे