लक्षद्वीप में नया एयरपोर्ट बनेगा, फाइटर जेट्स की भी होगी तैनाती… जानिए क्या है मोदी सरकार का प्लान

पीएम मोदी की सरकार का लक्षद्वीप एक पूरी तरह से नया और प्रभावी कार्यक्रम है। भारत सरकार अब मिनिकॉय द्वीपों पर नए हवाई अड्डे बनाने जा रही है। जहां से फाइटर जेट्स, मिलिट्री एयरक्राफ्ट्स और कॉमर्शियल एयरक्राफ्ट्स उड़ान भरेंगे इससे भारत का रणनीतिक बल बढ़ेगा।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार के पास लक्षद्वीप के लिए अलग-अलग योजनाएं हैं। भारत सरकार लक्षद्वीप के मिनिकॉय आइलैंड्स पर एक नया एयरपोर्ट बनाने की योजना बना रही है। जहां से फाइटर जेट्स, मिलिट्री एयरक्राफ्ट और कॉमर्शियल एयरक्राफ्ट भी चलेंगे। यहां ड्यूल परपज़ एयरफील्ड होगा।

लक्षद्वीप में नया एयरपोर्ट बनेगा, फाइटर जेट्स की भी होगी तैनाती... जानिए क्या है मोदी सरकार का प्लान

 

India Today को सरकारी सूत्रों से पता चला कि मिनिकॉय द्वीप पर ड्यूल परपज़ एयरफील्ड बनाया जाएगा। एयरपोर्ट है। जहां से फाइटर जेट्स काम करेंगे। यहां आम नागरिक विमान भी आ सकेंगे। अन्य मिलिट्री एयरक्राफ्ट भी लैंडिंग और टेकऑफ कर सकेंगे।

पहले सरकार को सिर्फ सैन्य उपयोग के लिए एयरफील्ड बनाने का प्रस्ताव भेजा गया था। लेकिन अब उसे ड्यूल परपज़ एयरफील्ड के तौर पर अपग्रेड करके फिर से भेजा गया है। भारत यहां एक एयरफील्ड बनाने से हिंद महासागर और अरब सागर में कड़ी निगरानी रख सकेगा। समुद्री लुटेरों को गिरफ्तार कर सकेगा

 

वायुसेना करेगा एयरफील्ड का संचालन

हिंद महासागर और अरब सागर में कार्रवाई करना नौसेना और वायुसेना के लिए ज्यादा आसान हो जाएगा। चीन की बढ़ती गतिविधियों पर भी रोक लगाने का मौका मिलेगा। Indian Coast Guards ने मिनिकॉय द्वीप पर एयरस्ट्रिप बनाने का पहला सुझाव दिया था। वर्तमान प्रस्ताव के अनुसार, भारतीय वायुसेना इस नए एयरपोर्ट और एयरफील्ड का संचालन करेगी।

लक्षद्वीप में नया एयरपोर्ट बनेगा, फाइटर जेट्स की भी होगी तैनाती... जानिए क्या है मोदी सरकार का प्लान

इकलौता एयरस्ट्रिप अगाती आइलैंड पर है

फिलहाल, लक्षद्वीप के चारों ओर एकमात्र हवाई अड्डा है। ये अगाती द्वीप पर है। हर तरह का विमान यहां उतर नहीं सकता। सूत्रों ने बताया कि इस एयरपोर्ट को बनाने का प्रस्ताव पूरी तरह से समर्थित है। कई बार रिव्यू किया गया है। ये द्वीप समूह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लक्षद्वीप यात्रा के बाद चर्चा में आया था।

लक्षद्वीप में नया एयरपोर्ट बनेगा, फाइटर जेट्स की भी होगी तैनाती... जानिए क्या है मोदी सरकार का प्लान

ये है मिनिकॉय आइलैंड की NASA द्वारा जारी की गई सैटेलाइट इमेज.

नौसेना पहले से मजबूत है लक्षद्वीप में, अब वायुसेना की तैयारी

INS Dweeprakshak भारतीय नौसेना का नौसैनिक बेस कवरत्ती द्वीप पर है। भारतीय नौसेना पहले से ही इस क्षेत्र में मजबूत है। लेकिन अब वायुसेना की मौजूदगी और बल को बढ़ाना होगा। दक्षिणी नौसैनिक कमांड आईएनएस द्वीपरक्षक है। 2012 से इस स्थान पर काम कर रहा है। 1980 के दशक से कवरत्ती द्वीप पर नौसेना संचालन कर रही है। यहां पर उसकी स्थायी उपस्थिति थी।

यह भी पढ़े 

आमिर की बेटी आयरा खान की शादी मराठी रीति-रिवाज से होगी: इस दिन नूपुर के साथ सात फेरे लेंगी

2000 KM की पैदल यात्रा कर, अयोध्या पहुंच रहे ‘बापू’, कड़ाके की ठंड में बदन पर सिर्फ धोती।

Leave a Comment

कोंसी टीम पाहुची आईपीएल 2024 फाइनल में जाने धोनी ने इंतजार किया लेकिन कोहली की टीम नहीं आई, तो थाला ने ये निर्णय लिया Railway Painter Vacancy: रेलवे में 8वीं पास पेंटर के पदों पर भर्ती का नोटिफिकेशन जारी क्या भारत में बंद होगा WhatsApp? दिल्ली हाईकोर्ट में कंपनी ने दी चेतावनी औजार पर नारियल तेल लगाने के फायदे