राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम में भाग नहीं लेगी कांग्रेस, कहा यह बीजेपी और RSS का है इवेंट

राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम में भाग नहीं लेगी कांग्रेस, कहा यह बीजेपी और RSS का है इवेंट

Ram Mandir Inauguration: राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह में कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे और पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी शामिल नहीं होंगे.

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। अयोध्या में 22 जनवरी को होने वाले भगवान राम के प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम में शामिल होने का न्योता कांग्रेस पार्टी ने अस्वीकार कर दिया है। पार्टी की तरफ से बयान जारी कर इस फैसले की जानकारी लोगों को दी गई है। पार्टी की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम का न्योता सम्मानपूर्वक अस्वीकार किया गया है। 22 जनवरी को होने वाले इस कार्यक्रम में सोनिया गांधी और मल्लिकार्जुन खड़गे समेत कांग्रेस का कोई भी नेता अयोध्या नहीं जाएगा।

Ram Mandir Inauguration: कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की अयोध्या में राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा समारोह में शिरकत को लेकर चल रहे विवाद और बहस पर विराम लग गया है। कांग्रेस पार्टी ने पूरे कार्यक्रम को आरएसएस और बीजेपी का कार्यक्रम बताया है और इससे नाराज हो गई है।

कांग्रेस पार्टी ने स्पष्ट रूप से कहा है कि सोनिया गांधी या कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे इस कार्यक्रम में भाग नहीं लेंगे। इसके अलावा, लोकसभा में विपक्ष के नेता अधीर रंजन भी उपस्थित नहीं होंगे। इन नेताओं ने राम मंदिर की प्रतिष्ठा को देखते हुए निमंत्रण को ठुकरा दिया है।

कांग्रेस ने क्या कहा?

कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने कहा, “पिछले महीने कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे, कांग्रेस संसदीय दल की अध्यक्ष सोनिया गांधी और लोकसभा में कांग्रेस संसदीय दल के नेता अधीर रंजन चौधरी को अयोध्या में राम मंदिर के उद्घाटन का निमंत्रण मिला। करोड़ों भारतीय भगवान राम की पूजा करते हैं। जबकि धर्म व्यक्तिगत बात है, बीजेपी और आरएसएस ने अयोध्या में राम मंदिर को वर्षों से एक राजनीतिक योजना बना दिया है।

बाद में उन्होंने कहा, “स्पष्ट है कि एक अर्द्धनिर्मित मंदिर का उद्घाटन केवल चुनावी लाभ उठाने के लिए किया जा रहा है। 2019 के सर्वोच्च न्यायालय के फैसले को मानते हुए और जनता की आस्था के सम्मान में श्री मल्लिकार्जुन खरगे ने बीजेपी और आरएसएस के इस कार्यक्रम के निमंत्रण को ससम्मान अस्वीकार कर दिया है।:”

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ सहित 6 हजार से अधिक लोगों को 22 जनवरी को होने वाले राम मंदिर प्राण समारोह में शामिल होने के लिए निमंत्रण भेजे गए हैं।

कौन से नेता शामिल नहीं हो रहे?

समाचार एजेंसी पीटीआई ने सोनिया गांधी, मल्लिकार्जुन खरगे और अधीर रंजन चौधरी के अलावा सूत्रों के हवाले से बताया कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी समारोह में शामिल नहीं होंगी। सीपीआई (एम) नेता सीताराम येचुरी ने भी निमंत्रण को ठुकरा दिया है।

तृणमूल कांग्रेस (TMC) की अध्यक्ष ममता बनर्जी ने मंगलवार (9 जनवरी) को आरोप लगाया कि बीजेपी अयोध्या में राम मंदिर के उद्घाटन को लोकसभा चुनाव से पहले एक चाल बना रही है। धार्मिक आधार पर लोगों को बांटने में मेरा विश्वास नहीं है।

क्या कहा कांग्रेस ने?

कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने एक बयान जारी करते हुए कहा कि पिछले महीने 22 जनवरी 2024 को अयोध्या में आयोजित होने वाले राम मंदिर के उद्घाटन समारोह में शामिल होने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष और राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे, कांग्रेस संसदीय दल की अध्यक्ष सोनिया गांधी और लोकसभा में कांग्रेस पार्टी के नेता अधीर रंजन चौधरी को समारोह में शामिल होने का निमंत्रण मिला था। भगवान राम की पूजा-अर्चना करोड़ों भारतीय करते हैं। धर्म मनुष्य का व्यक्तिगत विषय होता आया है, लेकिन बीजेपी और आरएसएस ने वर्षों से अयोध्या में राम मंदिर को एक राजनीतिक परियोजना बना दिया है।”

कांग्रेस ने बताया बीजेपी और RSS का है इवेंट

उन्होंने आगे कहा, RSS/बीजेपी ने लंबे समय से अयोध्या में मंदिर को राजनीतिक प्रोजेक्ट बनाया है। उन्होंने आगे कहा कि बीजेपी और आरएसएस के नेताओं द्वारा अधूरे मंदिर का उद्घाटन स्पष्ट रूप से चुनावी लाभ के लिए किया जा रहा है। 2019 के सुप्रीम कोर्ट के फैसले का पालन करते हुए और भगवान राम का सम्मान करने वाले लाखों लोगों की भावनाओं का सम्मान करते हुए मल्लिकार्जुन खड़गे, सोनिया गांधी और अधीर रंजन चौधरी ने स्पष्ट रूप से आरएसएस/बीजेपी के कार्यक्रम के निमंत्रण को सम्मानपूर्वक अस्वीकार कर दिया है।

प्राण प्रतिष्ठा समारोह में PM मोदी रहेंगे मुख्य यजमान

दरससल, 22 जनवरी को होने वाले राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ सहित 6 हजार से ज्यादा लोग शामिल होंगे। इस कार्यक्रम में रामलला के मूर्ति की प्राण-प्रतिष्ठा होनी है। इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मुख्य यजमान के रूप में शामिल होंगे। ऐसे में केंद्र से लेकर राज्य सरकार के अधिकारी कार्यक्रम की तैयारियों में व्यस्त हैं। अयोध्या में प्राण-प्रतिष्ठा से एक हफ्ते पहले धार्मिक कार्यक्रम शुरू हो जाएंगे। प्राण-प्रतिष्ठा कार्यक्रम में मेहमानों को न्योते भेजा जा रहा हैं। श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट, विश्व हिंदू परिषद और राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के पदाधिकारियों ने बेहद सधे अंदाज में अतिथियों की लिस्ट तैयार की है।

यह भी देखो 

श्रीरामचरितमानस: अहिल्या का उद्धार कैसे हुआ, पढ़ें जब विश्वामित्र ने भगवान राम के हाथों ताड़का को मार डाला।

अयोध्या में कटियार: मंदिर आंदोलन का लेख लिखकर कारसेवकों पर गोली चली, फिर भाग गए

राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा के लिए लखनऊ के होटल तैयार, प्रशासन ने कसी कमर।

Leave a Comment

कोंसी टीम पाहुची आईपीएल 2024 फाइनल में जाने धोनी ने इंतजार किया लेकिन कोहली की टीम नहीं आई, तो थाला ने ये निर्णय लिया Railway Painter Vacancy: रेलवे में 8वीं पास पेंटर के पदों पर भर्ती का नोटिफिकेशन जारी क्या भारत में बंद होगा WhatsApp? दिल्ली हाईकोर्ट में कंपनी ने दी चेतावनी औजार पर नारियल तेल लगाने के फायदे