क्या शंकराचार्यों को रामलला की प्राण प्रतिष्ठा से मतभेद है? निश्चलानंद सरस्वती ने रुख स्पष्ट किया

Ram Mandir खुला: चार शंकराचार्यों के बीच मतभेदों की खबरों पर शंकराचार्य निश्चलानंद सरस्वती ने प्रतिक्रिया दी है। प्राण प्रतिष्ठा शास्त्रों में बताए गए नियमों के अनुसार होनी चाहिए, उन्होंने कहा।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

Ramlala Pran Prarthana

Puri के शंकराचार्य निश्चलानंद सरस्वती ने अयोध्या में होने वाले प्राण प्रतिष्ठा समारोह को लेकर शंकराचार्यों के बीच मतभेदों की खबरों को खारिज कर दिया है। शनिवार (13 जनवरी) को चारों शंकराचार्यों में राम मंदिर को लेकर कोई मतभेद नहीं था। यह झूठ है।

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि श्रीराम को हर जगह सम्मान मिलना चाहिए। प्राण प्रतिष्ठा भी शास्त्रों में बताए गए नियमों के अनुसार होनी चाहिए, क्योंकि प्रतिमा विधिवत समावेश करती है। निश्चलानंद सरस्वती ने कहा कि शंकराचार्यों में कोई मतभेद नहीं है। ऐसी जानकारी और अटकलें बेकार हैं। मतभेद की जानकारी सत्य नहीं है।

“प्राण प्रतिष्ठा हो शास्त्र विधि से”

निश्चलानंद सरस्वती ने कहा कि चारों दिशाओं के साथ-साथ भूत-प्रेत और पिशाच जैसी शक्तियों का बुरा प्रभाव होने की आशंका रहती है अगर पूजा विधि और शास्त्रों का पालन नहीं किया जाता। इसलिए भगवान राम की प्राण प्रतिष्ठा शास्त्रीय विधि से ही होनी चाहिए। वेद-शास्त्र भी पूजा-पाठ का आधार होना चाहिए।

क्या शंकराचार्यों को रामलला की प्राण प्रतिष्ठा से मतभेद है? निश्चलानंद सरस्वती ने रुख स्पष्ट किया

दो शंकराचार्यों ने स्वागत किया

पहले चार मठों के शंकराचार्यों ने प्राण प्रतिष्ठा समारोह में भाग नहीं लिया था। बाद में शुक्रवार (12 जनवरी) को विश्व हिंदू परिषद (VHP) के कार्यकारी अध्यक्ष आलोक कुमार ने कहा कि चार में से दो शंकराचार्यों ने राम मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा समारोह का खुले तौर पर स्वागत किया है।

प्राण प्रतिष्ठा समारोह में शंकराचार्य शामिल नहीं होंगे

वीएचपी नेता ने पीटीआई को बताया कि 22 जनवरी को अयोध्या में होने वाले महोत्सव में कोई भी शंकराचार्य भाग नहीं लेंगे। साथ ही उन्होंने बताया कि ज्योतिर्मठ के शंकराचार्य स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती ने इस विषय पर कुछ टिप्पणियां की हैं। उन्हें बताया गया था कि राम मंदिर का निर्माण अभी पूरा नहीं हुआ है, इसलिए इसमें प्राण प्रतिष्ठा समारोह करना सही नहीं है।

इसे भी पढ़ें –

Nissan X-Trail की नई डेशिंग कार, धांसू फिचर्स के साथ मार्केट मे लॉन्च

Leave a Comment

कोंसी टीम पाहुची आईपीएल 2024 फाइनल में जाने धोनी ने इंतजार किया लेकिन कोहली की टीम नहीं आई, तो थाला ने ये निर्णय लिया Railway Painter Vacancy: रेलवे में 8वीं पास पेंटर के पदों पर भर्ती का नोटिफिकेशन जारी क्या भारत में बंद होगा WhatsApp? दिल्ली हाईकोर्ट में कंपनी ने दी चेतावनी औजार पर नारियल तेल लगाने के फायदे