samoohik nalakoop yojana: सामूहिक नलकूप योजना सरकार ने शुरू की अब किसानों को सिंचाई की सभी समस्या से मिलेगी राहत

samoohik nalakoop yojana: सामूहिक नलकूप योजना सरकार ने शुरू की अब किसानों को सिंचाई की सभी समस्या से मिलेगी राहत

केंद्रीय और राज्य सरकारों ने किसानों को सिंचाई के लिए सामूहिक नलकूप योजना के अलावा कई योजनाओं और सहायता प्रदान की हैं। ध्यान दें कि पीएम कुसुम योजना, जो किसानों को सोलर पंप पर सब्सिडी देती है, इसमें से सबसे बड़ी योजना है। किसने को सिंचाई देने के लिए सरकार इस समय सामूहिक नलकूप योजना बना रही है। यहाँ सरकार की ओर से किसानों को क्या लाभ मिलता है, वे किस तरह लाभ उठा सकते हैं और इसके लिए क्या करना होगा।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

किसानों को साल में कई बार ऐसा समय मिलता है। जब सिंचाई में समस्याएं आती हैं और खर्च बढ़ता है इसके अलावा, कई किसान समय पर सिंचाई नहीं कर पाते हैं। जिससे उनका उत्पादन बहुत कम हो जाता है या फसल पूरी तरह से खराब हो जाती है। यही कारण है कि सरकार सामूहिक नलकूप योजना से लाभ प्राप्त करने के लिए किसानों को दो या अधिक किसान समूह बना सकती है। इसके लिए किसानों को आपदा एकड़ खेती के लिए क्लस्टर बनाना होगा।

सामूहिक नलकूप योजना से खेती में होने वाले लाभ

सरकार ने सूक्ष्म सिंचाई के लिए सामूहिक नलकूप योजना को शुरू किया ताकि किसानों को खेती में आसानी से उत्पादन करने में सहायता मिले। इसके परिणामस्वरूप, किसानों को सिंचाई के लिए नलकूप उपलब्ध कराने का निर्णय लिया गया है, ताकि किसानों को अपनी फसल में पानी की कमी से छुटकारा मिल सके, हर तरह की खेती करने में आसानी हो और समय पर जल की आपूर्ति हो सके। इस योजना से लाभ उठाने के लिए किसानों को न्यूनतम आधा एकड़ भूमि के साथ-साथ दो किसानों को क्लस्टर बनाना होगा।

बता दें कि किसानों के लिए सामूहिक नलकूप योजना के माध्यम से कृषि विभाग बिहार के द्वारा 80% तक सब्सिडी पर बोरिंग के साथ-साथ मिनी मिनी स्प्रिंकल प्रदान करवाई जाने की योजना शुरू किया गया।

बता दें कि इस योजना के तहत सरकार ने वित्त वर्ष 2023-24 में कुल आठ समूहों को लाभ देने का लक्ष्य रखा था। जिसमें अनुसूचित जाति के लिए वही दो समूह छह सामान्य वर्ग के किसानों के लिए चुने जाएंगे। इससे इस योजना का फायदा होगा। यह बताया जाना चाहिए कि कृषि विभाग ने बिहार को आवेदन करने का मौका दिया है और योजना का लाभ लेने वाले लोगों को जिला कृषि विभाग की देखरेख में चुना जाएगा।

योजना में किन किसानों को मिलेगा लाभ

बता दे की सामूहिक नलकूप योजना में केवल उन किसानों को ही शामिल किया जाएगा या लाभ मिलेगा जो किसान ड्रिप या स्प्रिंकलर तकनीक का इस्तेमाल करना चाहते हैं। और जो किसान बिहार राज्य के हैं और मिनी स्प्रिंकलर पाइप बिछाने या ड्रिप का इस्तेमाल करने के लिए आवेदन करेंगे। उन किसानों को 80 प्रतिशत तब सब्सिडी का लाभ दिया जाएगा, इस हेतू किसान अपना ऑनलाइन पंजीकरण करवा सकते है।

सामूहिक नलकूप योजना क्या है?

अब किसानों के मन में सामूहिक नलकूप योजना का क्या मतलब है? तो आपको बता दें कि इस योजना में किसानों को सामूहिक बोरिंग की सुविधा मिलेगी। इसके तहत एक अध्यक्ष चुना जाएगा, जो बोरिंग की पूरी देखभाल करेगा। और किसान समय-समय पर नलकूप से अपनी फसल को सिंचा सकेंगे, जिससे उच्च उत्पादन मिलेगा। जिससे किसानों को कम लागत में अधिक लाभ मिलेगा।

बता देंगे इस योजना के अलावा भी प्रदेश सरकार की ओर से किसानों को सिंचाई परियोजना भी चलाई जा रही है जिसके तहत मुख्य योजना प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना है जिसके तहत लघु और सीमांत किसान हैं या अन्य वर्ग के किसान हैं उनको सब्सिडी का लाभ दिया जाता है।

बता दे की लघु एवं किस्मत किसानों को कृषि विभाग बिहार के मुताबिक 80 प्रतिशत वहीं सामान्य वर्ग के किसानों के लिए 70% तक ड्रिप सिंचाई के लिए सब्सिडी प्रदान किया जा रहा है।

लघु और सीमांत किसानों को प्रति हेक्टेयर भूमि पर विवाह योजना से 80% लाभ मिलता है। वहीं दूसरे श्रेणी के किसानों को 70% लाभ मिलेगा। वर्ग किसानों को 45 प्रतिशत और लघु और सीमांत किसानों को 55 प्रतिशत पोर्टेबल स्प्रिंकल अनुदान मिलेगा। इस योजना के लिए अभी तक 275 हेक्टेयर जमीन का लक्षण रखा गया है, जिसमें से 105 हेक्टेयर आवेदन के लिए विभाग को भेजे गए हैं।

सामूहिक नलकूप योजना में किसान आवेदन जमा

बिहार राज्य की इच्छुक किसान या इस योजना से जुड़ी हुई किसी भी ज्यादा जानकारी प्राप्त करने के लिए कृषि विभाग बिहार की ऑफिशल वेबसाइट पर जानकारी इकट्ठे कर सकते हैं और ऑनलाइन पंजीकरण करवा सकते हैं।

यह भी पढे –

PM Janman Yojana: पीएम जनमन योजना में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज ग्रामीण 1 लाख भारतीयों को करेंगे पहली किस्त जारी

Agniveer Recruitment: यह दिन से अग्निपथ योजना में युवा सेना में भर्ती होने के लिए ऑनलाइन आवेदन शुरू होगा

Khet Talab Yojana: किसानों को खेत में तालाब बनाने पर सब्सिडी, खेत में सिंचाई के साथ साथ, मछली पालन में भी मिलेगा लाभ

Leave a Comment

कोंसी टीम पाहुची आईपीएल 2024 फाइनल में जाने धोनी ने इंतजार किया लेकिन कोहली की टीम नहीं आई, तो थाला ने ये निर्णय लिया Railway Painter Vacancy: रेलवे में 8वीं पास पेंटर के पदों पर भर्ती का नोटिफिकेशन जारी क्या भारत में बंद होगा WhatsApp? दिल्ली हाईकोर्ट में कंपनी ने दी चेतावनी औजार पर नारियल तेल लगाने के फायदे